पेट के रोगों से मुक्ति

1975
freedom from diseases of the stomach
freedom from diseases of the stomach

Freedom from diseases of the stomach

  • प्रात: पपीता खा कर दूध पीने से कब्ज दूर होती है
    नियमित आहार में सुबह शाम पपीते के सेवन से पुरानी पुरानी से पुरानी कब्ज़ टूटती है |
  • सुबह के समय खाली पेट नीम की कोमल पत्तियाँ खाने से पेट के ज्यादातर रोगों से मुक्ति मिलती हैं ,इसी लिए नीम का दातुन करने की प्रथा आज भी प्रचलित है |
  • अनार की जड़ की छाल 50 ग्राम 250 ग्राम पानी से उबाले जब 50 ग्राम पानी बचे तो बांसी मुँह 3 दिन लगातार पिलाने से पेट साफ़ हो जाता है ,कीड़े निकल जाते है |
  • पुदीने की पत्तियों का रस नियमित लेने से पेट के कीड़े समाप्त हो जाते हैं |
  • अंकुरित अनाज अधिकतम प्रोटीन का स्त्रोत है ,जो हमारे पाचन को सशक्त कर रॊग प्रतिरोधक क्षमता बढाता है |पेट के सभी रोग समाप्त होते हैं |
  • अदरक और पुदीने का रस 4-5 ग्राम सेंधा नमक 2 ग्राम मिलकर पीने से पेट दर्द में तुरंत राहत मिलेगी |
  • 2 से 3 ग्राम अजवायन काले नमक के साथ लेने पेट के दर्द में आराम मिलता है |
इसे भी पढ़ेंः    सोने का सही तरीका दिलाये एसिडिटी और गैस की समस्या से राहत
कृपया ध्यान दें उपलब्ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। Read More