वैरिकोज वेन्स का उपचार Varicose Veins treatment

4278
वैरिकोज वेन्स का उपचार Varicose Veins treatment
वैरिकोज वेन्स का उपचार Varicose Veins treatment

वैरिकोज वेन्स का उपचार Varicose Veins treatment 

वैरिकोज वेन्स अर्थात पैरों की पिण्ड़लियों के पीछे नसो का गुच्छा बन जाना जो देखने में तो बहुत खराब लगता ही है साथ ही साथ रोगी को पैरों में खिंचाव और दर्द की भी अनूभूति देता है।

हाँलाकि यह रोग कोई विशेष समस्या तो नही पैदा करता है किंतु कई बार कुछ अन्य छोटी-मोटी समस्याओं का कारण बन सकता है । इस रोग के होने के मुख्य कारण निम्न पाये गये हैं-

  • शारीरिक श्रम की कमी
  • अचानक से शरीर में होने वाले हार्मोन परिवर्तन
  • विटामिन-सी की कमी से आने वाली कमजोरी से भी ऐसा हो सकता है। किसी किसी में लीवर की खराबी, ह्रदय रोग और गठिया की वजह से भी ये होता है।
  • दिल के दौरे, गुर्दे की किसी बीमारी और ट्यूमर (tumour) की वजह से भी शरीर में वेरिकोज़ नसें उत्पन्न हो जाती हैं।
  • बढ़ती उम्र के कारण वाल्व (द्वार) का ठीक से काम न करना और साथ ही नसों में खून के भरने से सूजन आ जाना।
  • आनुवांशिकता भी एक ऐसा कारण है, जिसकी वजह से वेरिकोज़ नसों की समस्या पैदा हो सकती है।

ऑपरेशन द्वारा इसका समाधान किया जा सकता है किंतु जो लोग ऑपरेशन नही करवाना चाहते उनके लिये प्रस्तुत है यह घरेलू प्रयोग-

इसे भी पढ़ेंः    पथरी का अचूक इलाज - Kidney Stone

सामग्री :

  • आधा कप एलोवेरा का गूदा
  • आधा कप कटी हुयी गाजर
  • 10 मि०ली० सेब का सिरका

बनाने विधि
मिक्सी में उपरोक्त तीनों सामानों को एकसाथ ड़ालकर अच्छे से पीसकर पेस्ट तैयार कर लें।

प्रयोग विधि
वेरीकोज वेन वाले हिस्से पर इस पेस्ट को फैलाकर, सूती कपड़े से बहुत ही हल्की पट्टी बाँध दें । अब एक सीधी जगह पर पीठ के बल लेट जायें और पैरों को शरीर के तल से लगभग एक-सवा फुट ऊपर उठाकर किसी सहारे से टिका लें । इस अवस्था में लगभग तीस मिनट तक लेटे रहें । यह प्रयोग रोज तीन बार करना है । ध्यान रखें यह बहुत धीरे ठीक होने वाला रोग है अत: सयंम के साथ इस प्रयोग का पालन करें लगभग चार से छः सप्ताहों में प्रयोग करनें से  लाभ होगा।

कुछ अन्य घरेलू उपाए , जिनके प्रयोग से आपको बहुत आराम मिलेगा

  • जैतून के तेल और विटामिन ई तेल को बराबर मात्रा में मिलाकर उसे थोड़ा सा गर्म कर लें। इस गर्म तेल से नसों की मालिश कुछ मिनटों तक करने से एक से दो महीने में आराम मिल जाता है।
  • अमरुद जरूर खाएं, इसमें उपस्थित विटामिन C नसों को मजबूती देता है तथा विटामिन K खून के बहाव को नियंत्रित करता है।
  • सरसों तेल से दिन में दो बार मालिस करने से रक्त परिसंचरण ठीक रहता है और नसों के वाल्व (द्वार) सही तरीके से काम करते हैं।
  • सेब साइडर सिरका वैरिकोज वेन्‍स के लिए एक अद्भुत उपचार है। रात को बिस्‍तर पर जाने से पहले और अगले सुबह  सेब साइडर सिरके से उस हिस्‍से की मालिश करें यह रक्त प्रवाह और रक्‍त परिसंचरण में सुधार करने में मदद करता है। यह प्रिक्रिया लगातार करने से कुछ ही महीनों में वैरिकोज वेन्‍स का आकार कम होने लगता है।
  • अर्जुन की छाल वेरीकोस वेन्स के लिए बहुत बढ़िया दवा हैं, अगर आप इस समस्या से परेशान हैं तो आप रात को सोते समय गाय के दूध में या साधारण पानी में अर्जुन की चाल को चाय की तरह उबाले और आधा रहने पर इसको छान कर पी ले।
इसे भी पढ़ेंः    भूख ना लगे तो करे ये उपाय - Bhukh badhane ke gharelu upay

वेरिकोसे नसों की त्वचा खुजली युक्त होती है और इसीलिए इसे खुजलाने का प्रयास ना करें। इससे खून निकलने और अलसर (ulcer) जैसी समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं।

कृपया ध्यान दें उपलब्ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। Read More