पैरों में दर्द Heels Pain Remedies in hindi

86
heel pain
heel pain

पैरों में दर्द के कारण व् उपचार

Heels Pain Remedies 

पुराने समय में पैरों में दर्द 55- 60 की उम्र में होता था जोकि आजकल की भाग-दौड़ की ज़िंदगी में  बहुत जल्दी ये समस्या दिखने लगी है ,अब तो बच्चे और जवान लोगो में ही पैरों में  दर्द आम हो गया है।इसका एक कारण यह भी है की आज  हम सभी काम खड़े खड़े करना चाहते है जैसे किचन के काम व घर के अन्य काम ,शॉप्स में ,आदि  इसलिए  अक्सर हमे ये दर्द तरह-तरह से देखने को मिलता है  जैसे –

• पैरों में अचानक दर्द महसूस हो जो फिर बढ़ जाए ।

• मांसपेशियों में खिंचाव होने से  होने वाला दर्द ।

• किसी तरह की चोट से  होने वाला दर्द ।

• पैर के निचले भाग  में गांठ महसूस होना ।

• पैर में  भारीपन  होना या सूजन होना ।

इन पैरो के दर्द  से बचने के लिए हम कुछ उपाय अपना सकते है और इस दर्द को दूर या कम कर सकते है। जैसे

 

• वज़न पर नियंत्रण रखे । आवश्यकता न होने पर अधिक देर तक खड़े न रहे।

• नित्य स्टेचिंग  एक्सरसाइज करे ,सूक्षम या अधिकं जितना भी कर पाए। पैरो की मूवमेंट बहुत ज़रूरी है।

इसे भी पढ़ेंः    तरबूज का शर्बत - Watermelon Juice Recipe

• नहाने से पहले लाहौरी नमक और तेल से मसाज करे ,कुछ देर बाद नहाये।

• आराम दायक सैंडल या जूतों का प्रयोग करे। हाई- हील्स का प्रयोग न करे।

• यदि दर्द लगातार कई दिनों तक बना रहे तो,गरम पानी की सिकाई करे।

• गैस बनाने वाले  भोजन से बचे। दही छाछ का प्रयोग  भी दर्द में न करे।

• रात को दूध में हल्दी उबाल कर दूध पिए।

• रात को सोने से पहले पैरों की मालिश करे। पैरो के तलवों पर भी तेल लगाय।

क्योंकि हमारे शरीर का पूरा वजन पैरों पर आता है इसलिते वज़न बढ़ने न दे।

पैरों में दर्द के साथ साथ अगर अकड़न भी महसूस हो तो यह गठिया की शुरुआत भी हो सकती है और यह दर्द अधिक लम्बा हो तो गठिया का कारण भी बन सकता है इसलिए इसको नज़र अंदाज़ न करे, अतः इन  लक्षण को देखते हुए किसी डॉक्टर से परामर्श अवश्य ले।

कृपया ध्यान दें उपलब्ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। Read More