सिंघाड़े और सिंघाड़े के आटे – Singhare ka atta

1010
Water cashew nut
Water cashew nut

सिंघाड़े और सिंघाड़े के आटे – Singhare ka atta

जिन लोगों को गले के रोग, टॉन्सिल या खराश की तकलीफ रहती है, उन्हें अपने आहार में सिंघाड़े और सिंघाड़े के आटे का प्रयोग करना चाहिए, इसमें मौजूद आयोडीन गले के कष्ट दूर करता है।

इसे भी पढ़ेंः    सेंधा नमक के फायदे और उपयोग - Benefits and Uses of Sendha Namak (Rock Salt)
कृपया ध्यान दें उपलब्ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। Read More