पृथ्वी मुद्रा के लाभ Benefits of Prithvi Mudra

91
prithvi mudra
prithvi mudra

 पृथ्वीमुद्रा

अनामिका और अंगूठे के अगले हिस्सों को मिलाकर रखें और बाकी तीन अँगुलियों को सीधा रखें।

 

पृथ्वी मुद्रा के लाभ 

  • इसे नियमित रुप से करने से शरीर में ऊर्जा का संचार होता है।
  • इसे नियमित रुप से करने से शरीर की कमजोरी, वजन में कमी और मोटापा आदि रोग दूर होते हैं।
  • सर्दी जुकाम खून की कमी पाचनशक्तिसे सम्बंधित रोग दूर होते है।
  • विटामिन की कमी दूर होती है। हडिडयां मज़बूत बनती है।
  • सहनशीलता का गुण आता है।
  • शरीर में स्फूर्ति और चमक लाती है। मूलाधार चक्र सक्रिय होता है
इसे भी पढ़ेंः    प्लास्टिक के चावल पहचाने - Difference between plastic rice and normal rice
कृपया ध्यान दें उपलब्ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। Read More