आँखों की dryness, जोड़ो में दर्द, फ़टी ऐड़ियाँ जैसी अनेको समस्याओं के लिए करे एक उपाय- नाभि में तेल in Hindi

368
oil in navel
oil in navel

नाभि में तेल लगाने के फायदे 

नाभि आपके शरीर का केंद्र है, पूरे शरीर की लगभग 72000  नस नाड़ियाँ आपकी नाभि से जुडी होती है। यदि रात में सोने से पहले आप नाभि में २ बून्द तेल की डाल कर और पेट की  मसाज करे ,तो  आपको बहुत फायदा देता है।  इससे बालों से लेकर पैरों की एड़ियों तक आपको लाभ मिलता है  ,आइये जाने कुछ बातें

नाभि पर तेल लगाने से

फ़टे होंठ ठीक हो जाते

सरसों या नारियल  के तेल को नाभि में डालने से फ़टे होंठ ठीक हो जाते है।

बालों का झड़ना 

सरसों  या नारियल के तेल को नाभि में डालने से बालों का झड़ना दूर होता है।

नींद न आने की समस्या

सरसों या नारियल  के तेल को नाभि में डालने से नींद न आने की समस्या दूर होती है।

इसे भी पढ़ेंः    पैरों में दर्द Heels Pain Remedies in hindi

नाखूनों का टूटना

सरसों के तेल को नाभि में डालने से नाखूनों का बीच में से कटना दूर होता है ,नाख़ून मज़बूत होते है ,उनमे चमक आती है।

आँखों की  dryness 

सरसों या  नारियल  के तेल को नाभि में डालने से आँखों की  dryness दूर होती है।

अंग में सूजन हो

सरसों के तेल को नाभि में डालने से शरीर में किसी भी अंग में सूजन हो, दूर हो जाती है।

कील मुहाँसे की समस्या

नीम का तेल को नाभि में डालने से कील मुहाँसे की समस्या से छुटकारा मिलता है।

चेहरे के दाग धब्बे

बादाम या नीम के तेल को नाभि में डालने से चेहरे के दाग धब्बे की समस्या नहीं रहती।

चेहरे की रंगत

बादाम के तेल को नाभि में डालने से चेहरे की रंगत बढ़ने लगती है।

पेट दर्द ,कब्ज़  अपच

सरसों या अरण्डी के तेल को नाभि में डालने से पेट दर्द ,कब्ज़  अपच की परेशानी दूर होती है , पाचन ठीक रहता है।

जोड़ो में दर्द

अरण्डी के तेल को नाभि में डालने से जोड़ो में दर्द की परेशानी दूर होती है।

पैरों की फ़टी  एड़ियों 

सरसों या नारियल का तेल नाभि में डालने से फ़टी ऐड़ियाँ कुछही समय में ठीक हो जायगी और आपके पैर सूंदर और कोमल हो जायगे।

इसे भी पढ़ेंः    गोवर्धन पूजा अन्नकूट 5 नवंबर 2021 - Govardhan Puja | Annakut

 

कृपया ध्यान दें उपलब्ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। Read More