चंद्र ग्रहण / रक्षा बंधन एकसाथ (7 अगस्त )Raksha Bandhan/Lunar eclipse

855
raksha bandhan
raksha bandhan

चंद्र ग्रहण / रक्षा बंधन एकसाथ (7 अगस्त )Raksha Bandhan/Lunar eclipse

इस बार 7 अगस्त को चंद्रग्रहण और रक्षा बंधन एक साथ है। इस बार करीब 9 साल के बाद रक्षाबंधन के दिन चंद्रग्रहण का योग बना है। जिससे एक ऐसा संयोग बन रहा है कि कुछ राशियों के अच्छा साबित नही होगा। तो आइए जानते है कि कोनसी है राशियां।

हिन्दू पंचांग के अनुसार 7 अगस्त को रात 7.35 मिनट पर होगा जो रात 12.10 मिनट तक रहेगा। इसलिए चंद्रग्रहण का सूतक काल दोपहर 1.30 मिनट पर शुरू हो जाएगा। जिससे एक ऐसा संयोग बन रहा है कि कुछ राशियों के अच्छा साबित नही होगा।
चंद्र ग्रहण से मेष, मीन, सिंह, मकर, कुंभ यह वो पांच राशि जिनको धन लाभ के योग बन सकते है।

वही धनु, तुला, मिथुन, वृशिक, कर्क राशि वालो के लिए यह चंद्रग्रहण बहुत ही अनुचित साबित होगा। इन राशि वालो को कुछ दिनों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। आपके बनते काम भी बिगड़ सकते है।

ज्योतिषि के अनुसार इस बार रक्षाबंधन के दिन चन्द्रग्रहण के साथ भद्रा का भी साया रहेगा, जिसके चलते राखी बांधने के लिए के केवल कुछ  ही समय मिलेगा।

ज्योतिषित गणना के अनुसार रक्षाबंधन पर सोमवार को ग्रहण रात्रि 10.33 बजे से शुरु होगा जो रात्रि में 12.48 बजे समाप्त होगा। ग्रहण का सूतक काल दोपहर 1.40 मिनट से शुरु हो जाएगा। शास्त्रो के अनुसार सूतक तथा भद्राकाल में राखी नहीं बांधी जाती।

इसे भी पढ़ेंः    दलिये के अप्पम टेस्टी भी हेल्थी भी - Daliye ka upttam testy and healthy

अगस्त की दोपहर 1 बजकर 40 मिनट पर सूतक लग जाएगा और भद्रा काल सुबह 11 बजकर 29 मिनट तक रहेगा। जिसके चलते सुबह 11 बजकर 30 से दोपहर के 1 बजकर 39 मिनट के बीच रक्षाबंधन के लिए सही समय माना गया है।

कृपया ध्यान दें उपलब्ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। Read More