तुलसी के बीज से होने वाले फायदे Health Benefits of Basil Seeds

0
1749
tulsi-ke-beej
tulsi-ke-beej

तुलसी के बीज से होने वाले फायदे –
Health Benefits of Basil Seeds

  • 1. यौन रोगों के इलाज में
    पुरुषों में आने वाली शारीरिक कमजोरी में तुलसी के बीज का उपयोग काफी फायदेमंद साबित हुआ है। इसका उपयोग करने से सेक्स क्षमता मजबूत होती है। जिससे नपुंसकता की समस्या तक दूर हो जाती है। तुलसी के बीज का नियमित रूप से किया जाने वाला उपयोग पुरूषों के लिये सबसे लाभकारी सिद्ध हुआ है।
  • 2. अनियमित माहवारी की समस्या में
    अक्सर देखा जाता है कि महिलाओं में शारीरिक कमजोरी या हर्मोन्स में होने वाली गड़बड़ी से माहवारी नियमित रूप से नहीं आ पाती। जिससे उन्हें कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इस समस्या को दूर करने के लिये आप तुलसी के बीज का सेवन करें। ये औषधि मासिक धर्म की अनियमितता को दूर करती है।
  • शीघ्र पतन एवं वीर्य की कमी
    अक्सर देखा जाता है कि पुरुषों में शरारिक कमी के चलते शीघ्र पतन की समस्या बढ़ जाती है। जिससे वो हमेशा तनाव ग्रस्त रहते हैं। इस समस्या को ठीक करने के लिये तुलसी के बीज का रोज गर्म दूध के साथ सेवन करें। इस समस्या से छुटकारा मिलेगा।
  • गर्भधारण में समस्या
    जिन महिलाओं को गर्भधारण करने में समस्या होती है उनके लिये तुलसी के बीज सबसे अच्छा औषधीय उपचार होता है। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिये आप पीरियड्स के आने पर 5-5 ग्राम तुलसी का बीज सुबह शाम पानी के साथ तब तक लें जब तक कि आपका पीरियड खत्म ना हो जाये। पीरियड्स के समाप्त हो जाने के बाद माजूफल का पाउडर बनाकर सुबह शाम 10 ग्राम पानी के साथ तीन दिन तक लें।
  • सर्दी खांसी के समय
    यदि आपको ज्यादा खांसी और सर्दी हो रही है तो तुलसी के पत्तों को डालकर काढ़ा तैयार कर लें, फिर इस काढ़े को गर्म गर्म पिये। यह काफी अच्छा असर कर इस समस्या से मुक्ति दिलायेगा।
  • बुखार ,खांसी, शवास रोग में तुलसी की पत्तियों का रस ३ ग्राम अदरक का रस ३ ग्राम और शहद 5 ग्राम मिलाकर सुबह शाम चाटें।
  • चोट लग जाने पर
    तुलसी एक ऐसी औषधि है जिसमें प्राकृतिक रूप से एंटी-बैक्टीरियल गुए पाये जाते हैं। यह हमारे शरीर की रक्षा कर बीमारियों से लड़ने की ताकत प्रदान करते हैं। इसके अलावा इसके औषधीय गुण शरीर पर लगने वाली चोटों को भर कर घाव को जल्द ही ठीक कर देते हैं। तुलसी के पत्ते को फिटकरी के साथ मिलाकर चोट पर लगायें, जल्द ही आराम मिलेगा।
  • आधे सिर का दर्द
इसे भी पढ़ेंः    अहोई अष्टमी व्रत, जानें महत्व, पूजन विधि और शुभ मुहूर्त - Ahoi Ashtami Puja

चौथाई चम्मच तुलसी की पत्तों का चूर्ण शहद के साथ सुबह शाम चाटे।

  • दाग धब्बे

मुँहासे ,झाइयाँ ,काले दाग पर तुलसी के चूर्ण को मक्खन में मिलकर चेहरे पर मले।

कृपया ध्यान दें उपलब्ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। Read More