ताँबे की पात्र में जल

0
1043

सुबह सुबह निवाय मुँह कम से कम 2-3 गिलास पानी अवश्य पिये, बांसी थूक रोगों से लड़ने में सहायक की भूमिका अदा करती है |
8 -10 घंटे या रात भर पानी ताँबे की पात्र में रखने से उसमें मोजूद एंटी ऑक्सीडेंट सभी उदर विकारों को दूर करता है |

ताँबे  में एन्टी  बैक्टेरिअल गुण होते हैं , जो जल को शुद्ध कर  पेट  को साफ़ करते है | रात  भर ताँबे के

पात्र में रखा जल खाली पेट ग्रहण करने से रक्त अल्पता समाप्त  है ।

ताँबे के पात्र में रात भर रखा जल खाली पेट पीने से थायरोक्सिन हर्मोन संतुलित होता है जिससे पेट के रॊग समाप्त होते हैं|

इसे भी पढ़ेंः    क्या आप घर में चूहों से परेशान है - Best home remedies to get rid of rats easily
कृपया ध्यान दें उपलब्ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। Read More