नीम सेहत का खज़ाना Beneficial Neem

0
743
neem
neem

नीम सेहत का खज़ाना  Beneficial Neem

नीम का स्वाद कड़वा जरूर होता है, पर सेहत के लिहाज से यह बहुत फायदेमंद है. इसकी हेल्थ प्रॉपर्टीज की वजह से आयुर्वेदिक मेडिसिन में पिछले चार हजार सालों से भी ज्यादा समय से नीम का इस्तेमाल हो रहा है. इसकी मदद से कई हेल्थ प्रॉब्लम को दूर करने के साथ-साथ अनेक बीमारियों का खतरा भी टाल सकते हैं. नीम की पत्तियां भले ही कड़वी होती है, लेकिन इनमें ऐसी कई प्रॉपर्टीज हैं, जो कई हेल्थ प्रॉब्लम्स से बचाव करती हैं. नीम का पेड़ आसानी से कहीं भी देखने को मिल जाता है. इसकी छांव तो सभी को अच्छी लगती ही है, लेकिन अगर इसकी पत्तियों को दवाई की तरह यूज करें तो इससे कई तरह के लाभ  भी मिलते हैं। 

  •  नीम की पत्तियों को पानी में 1-2 घंटे उबालकर ठंडा कर ले और इस पानी से चेहरा धोएं इससे चेहरे से दाग धब्बे दूर रहेंगे. नीम की पत्तियों का एंटीबैक्टिरियल गुण स्किन साफ़ करता है।
  •  नीम की पत्तियों को पीस कर लगाये , स्किन प्रॉब्लम में राहत मिलती है , नीम में निम्बीडॉल और गेडुनिन नामक मेडिसिनल कम्पाउंड होते है जो स्किन प्रॉब्लमस से आराम दिलाते है.
  • सुबह नीम की पत्तियों का जूस पीने से अनेक फायदे  होता है यहाँ तक की कैंसर से बचाव भी संभव है , नीम की पत्तियों में मौजूद ग्लायकोप्रोटीन ट्यूमर सेल्स की ग्रोथ रोकता है.
  • नारियल के तेल में नीम की पत्तियों का रस मिलाकर शरीर पर लगाने से मच्छर पास नहीं आते।
  • नीम की पत्तियाँ नैचुरल इन्सुलिन रेगुलेटर का काम करती है. नीम की कोमल पत्तियों का रस सुबह खाली पेट पीने या चबाने सेब्लड शुगर कंट्रोल होता है।
  • नीम के फूलों का जूस बॉडी फैट कम करता है.नीम के मुट्ठी भर फूलों को पानी में उबालकर उसमे एक चम्मच निम्बू का रस और आधा चम्मच शहद मिलाकर रोज खाली पेट पिए.नीम वज़न काम करने में सहायक है।
  •  नीम के एंटीबैटिरियल गुण जूओ को मारते है. नीम की पत्तियों को पानी में उबालकर उससे सिर धोए,सिर में जुएँ नहीं होंगी।
  • नीम की कोमल पत्तिया चबाने से खून साफ़ होता है. जिससे मुहासे, एक्ने, ब्लैक हेड्स जैसी प्रोब्लम्स दूर होती है और चेहरे पर ग्लो आता है।
  • पेट की तकलीफ (अमीबियासिस) होने पर नीम का एंटीबायोटिक गुण फायदा करता है नीम की पत्तियों और हल्दी का पाउडर सरसों के तेल में मिलाकर पेट पर लगाए।
  • एक कप नीम की छाल के काढ़े में धनिया और सौंठ का पाउडर मिलाकर पीने से मलेरिया में फायदा होता है।
इसे भी पढ़ेंः    धनिये की पंजीरी - Dhaniya ki panjiri prasad recipe Shri Krishan Janmashtami special
कृपया ध्यान दें उपलब्ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। Read More