साल का पहला सूर्य ग्रहण 21 जून 2020 10:19AM से

0
2768
99 साल बाद हो रहा ऐसा सूर्यग्रहण, जानें ग्रहण का समय
99 साल बाद हो रहा ऐसा सूर्यग्रहण, जानें ग्रहण का समय

सूर्यग्रहण एक रोचक खगोलीय घटना है. साल का पहला सूर्य ग्रहण 21 जून 2020 को सुबह 10:19 AM से शुरू होकर दोपहर बाद 01.36 बजे तक रहेगा। यह ग्रहण मिथुन राशि और मृगशिरा नक्षत्र में लग रहा है इसलिए मिथुन वालों पर इस ग्रहण का सबसे ज्यादा प्रभाव देखने को मिलेगा। आइए जानते हैं, सूर्यग्रहण के बारे में हिन्दू मायथोलॉजी क्या कहती है?

हिन्दू मान्यता के अनुसार, सूर्यग्रहण में ग्रहण शुरु होने से चार प्रहर पूर्व भोजन नहीं करना चाहिये। बूढ़े, बालक और रोगी एक प्रहर पूर्व तक खा सकते हैं। यह भी माना जाता है कि ग्रहण के दिन पत्ते, तिनके, लकड़ी, फूल आदि नहीं तोड़ना चाहिए। इस दौरान पूजा घर और मंदिरों के पट बंद रहते हैं। लोग ग्रहण सूतककाल से पहले ही अपने देवी देवताओं की पूजा करके उनके पट/गेट बंद कर देते हैं।
इस सूर्य ग्रहण के 12 घंटे पहले सूतक काल लग जाएगा। सूतक काल 20 जून की रात 10.19 बजे से आरंभ हो जाएगा।

सूर्य ग्रहण का सभी 12 राशियों पर पड़ने वाले प्रभाव एवं उपाय

मेष राशि – मेष राशिवाले जातकों के लिए पराक्रम भाव में वाला ये सूर्य ग्रहण आपका आर्थिक पक्ष मजबूत करेगा। आत्मविश्वास के साथ कार्य करे उन्नति होगी।

वृषभ राशि- वृषभ राशिवाले जातकों के लिए धनभाव में पड़ने वाला ये सूर्य ग्रहण पारिवारिक कलह एवं मानसिक अशांति दे सकता है। कर्ज या लेन-देन के विवादों से दूर रहें।

इसे भी पढ़ेंः    धनतेरस त्रयोदशी ( धनसमृद्धि का द‌िन) |धनतेरस पर समृद्धि प्राप्ति के उपाय - Prosperity tips for Dhanteras

मिथुन राशि – ग्रहण सर्वाधिक कष्ट कारक सिद्ध हो सकता है| किसी भी तरह के व्यवसाय या आर्थिक गतिविधियो में काफी सोच समझकर कर निर्णय ले।

कर्क राशि- कर्क राशिवालों के लिए यह ग्रहण व्यय भाव में पड़ने वाला ये ग्रहण आपके लिए स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव डालेगा। नकारात्मकता से बचे |

सिंह राशि – सिंह राशिवालों के लिए यह ग्रहण लाभ भाव में पड़ने वाला ग्रहण भाग्योदय से नए अवसर प्राप्त होंगे l

कन्या राशि – कन्या राशि के जातकों के लिए यह ग्रहण दशम भाव में पड़ने वाला ग्रहण वाणी ,व्यहवार द्वारा रिश्तों में कड़वाहट आने से बचे । नौकरी में भी स्थान परिवर्तन की संभावना है।

तुला राशि – यह सूर्य ग्रहण तुला राशिवालों के भाग्य भाव में पड़ने वाला ये ग्रहण कार्यक्षेत्र में बाधा उत्पन्न करा सकता है। पिता का दीपक, घी, इत्र का दान करना चाहिए।

वृश्चिक राशि – वृश्चिक राशि के जातकों के अष्टम भाव में पड़ने वाला यह ग्रहण स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होगा l

धनु राशि – इस ग्रहण के प्रभाव सप्तम भाव में पड़ने के कारण दांपत्य जीवन में कटुता आ सकती है l

मकर राशि – इस ग्रहण के प्रभाव छठे भाव में पड़ने वाला सूर्य ग्रहण मिलाजुला फल देगा। ऋण, रोग और शत्रु आपको तंग कर सकते हैं। खानपान का ध्यान रखे |

इसे भी पढ़ेंः    विभन्न बीमारियों में लाभदायक रस /जूस

कुंभ राशि – कुंभ राशि के जातको के लिए पंचम भाव में पड़ने वाला यह ग्रहण संतान संबंधी चिंता परेशान कर सकती है।

मीन राशि – इस राशि से चतुर्थभाव में पड़ने वाला यह ग्रहण आपको पारिवारिक कलह एवं मानसिक अशांति देगा

कृपया ध्यान दें उपलब्ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। Read More